क्या आप परेशान है ? यदि आपको तंत्र मंत्र ज्योतिष की किसी भी प्रकार की समस्या है तो आप गुरू जी से Mobile अथवा Whats App पर संपर्क कर सकते है ! Mobile No. +919509989296    Whats App +919509989296
vashikaran specialist in kamakhya tarapith haridwar ujjain

vashikaran specialist aghori baba tantrik in calcutta west bengal

अद्भुत समोहन प्राप्ति - श्री ज्वाला मालनी साधना 

सुख स्मृधी पे ग्रहण होता है गृह कलेश क्यू के घर में तनाव पूर्ण महोल ही प्रमथिक होता इसके साथ ही यदि आपका उचधिकारी आपके अनुकूल नहीं है | या आपके बच्चे या आपकी पत्नी आपके अनुकूल न हो तो भी जीवन में उदासीनता घर कर जाती है |यह साधना एक अद्भुत साधना है जो के साधक को ऐसा दिव्य स्मोहन देती है जिस से उसके कार्य सहज ही होने लगते है लोग उसकी बात का आदर करते है उसकी वाणी में अद्भुत प्रभाव आ जाता है छोटे बड़े सभ उसको इज़त देते है | वह अपने आस पास के महोल को और लोगो को अपने अनुकूल रखने और परिचित जा अपरिचित व्यक्ति के साथ मधुर संबंध बनाने और अपने व्यक्तिगत जीवन की आ रही अनेक स्मस्याओ को दूर करने में सक्षम हो जाता है |

विधि –
१.   यह साधना 11 दिन की है | इस में हर रोज 11 माला जप अनिवर्य है |
२.   इस में आसन पीले रंग का लेना है और आपकी दिशा उतर की तरफ मुख रहेगा |
३.   देवी भगवती जा ज्वालामालनी का चित्र स्थाप्त करे | चित्र का पूजन धूप दीप नवेद पुष्प अक्षत फल आदि से करे | भोग में आप किसी भी तरह की मिठाई इस्तेमाल कर सकते है | एक पनि वाले नारियल को तिलक कर मौली बांध कर देवी माँ को अर्पित करे |
४.   फिर मूँगे की माला से निम्न मंत्र की ११ माला ११ दिन तक करे |
५.   ११ दिन के बाद सभी पुजा की हुई समगरी जल प्रवाह करदे | फल आदि प्रसाद अपने परिवार में बाँट दे |
६.   गुरु पूजन और गणेश पूजन हर साधना में अनवर्य होता है इस बात को हमेशा याद रखे |

मंत्र – 
|| ॐ नमो आकर्षिनी ज्वाला मालनी देव्यै स्वाहा ||

घोर रूपिणी वशीकरण साधना

 

यह साधना बहुत ही तीक्ष्ण प्रवाभ रखती है | इसका उपयोग शत्रु वशीकरण के लिए और रूठी हुई पत्नी जा पति को वश में करने के लिए किया जाता है |यह भी ध्यान रखे के किसी भी अनुचित कार्य के लिए यह प्रयोग न करे अथवा आपको हानि होगी | यहा सिर्फ जिज्ञाशा के लिए यह प्रयोग दे रहा हु इसे अपने उच्च अधिकारी पत्नी अथवा पति को अनुकूल बनाने के लिए प्रयोग करे |
साधना विधि –
किसी भी अमावश ,ग्रहण काल ,दीपावली आदि शुभ महूरत में शुरू कर  इसका जाप 7 दिन में 11000 कर के सिद्ध कर ले फिर किसी भी ख्द्य पदारथ भोजन आदि जब भी आप करने बैठे उसे 7 वार अभिमंत्रिक कर जिसका भी नाम लेकर खाया जाता है उसका निहचय ही वशीकरण हो जाता है और वह आपके अनुकूल कार्य करने लगेगा और आपकी आज्ञा का पालन करेगा |
  १.  किसी बेजोट पे एक लाल कपड़ा विशा दे उसके उपर एक नारियल तिल की ढेरी पे  स्थाप्त करे |
  २.  नारियल का पूजन करे उस पे  सिंदूर का तिलक करे धूप दीप आदि से घोर रूपिणी को स्मरण करते हुये पूजन करे | 
  ३.  भोग मिठाई का लगाए |
  ४.  दिशा दक्षिण की तरफ मुख रखे |
  ५.  आसन कंबल का ले जा कोई भी ऊनी आसन ले ले |
  ६.  माला काले हकीक जा रुद्राक्ष की ठीक रहती है |
  ७.  वस्त्र किसी भी तरह के पहन ले |इस साधना को शाम 8 से 10 व्जे के बीच कभी भी शुरू कर ले |
  ८.  मंत्र  जाप पूरा हो जाए तो नारियल किसी भी शिव मंदिर जा काली के मंदिर में कुश दक्षणा के साथ  चढ़ा दे और सफलता के लिए प्रार्थना करे |
  ९. गुरु पूजन और गणेश पूजन हर साधना में अनिवार्य होता है इसका ध्यान रखे |



मंत्र---

|| ॐ नमः कट विकट घोर रूपिणी स्वाहा || 

साबर मोहनी जाल

साबर तंत्र में इस साधना को मोहनी जाल के नाम से जाना जाता है | इसका प्रयोग  कभी विफल नहीं जाता !इस से जहाँ अपने उच्च अधिकारी को अपने अनुकूल बना सकते है | वही अपने आस पास के वातावरण को अपने विरोध होने से  रोक सकते है | अपनी झगड़ालू पत्नी जा पति को भी अपने वश में  कर उसे अनुकूलता दे सकते है | कई लोग इस प्रयोग का गलत इस्तेमाल कर लेते है | उन्हें कहता हू कोई भी ऐसा कार्य ना करे जो समाजिक दृष्टि से अनुकूल ना हो | सिर्फ आवश्कता पड़ने पर ही यह प्रयोग करे | यह प्रयोग जिज्ञाशा के लिए दे रहा हू | इस लिए इसे सद्कार्य हेतु इस्तेमाल करे नहीं तो शक्ति कई वार विपरीत स्थिति भी पैदा कर देती है | यह घर से भी साध्य व्यक्ति  को भी  बुला लेता है | ऐसा परखा हुआ है | मोहनी जाळ फेकना आसन है, मगर उठाना उतना ही मुश्किल इस लिए  इसे इस्तेमाल करने से पहले पुनः  सोच विचार कर ले  | इस का प्रयोग अति  शक्तिशाली है | इस से अपने प्रतिबंधिओ  को अपने अनुकूल कर मन चाहा कार्य संपन करा  सकते है | यह प्रयोग पहली  वार आपके समक्ष  ला रहा हू |


साधना विधि --
१. इसे लाल वस्त्र धारण कर करना चाहिए |
२. आसन कुषा का या कबल का ले सकते है |
३. दिशा उतर रहेगी |
४. मन्त्र जाप पाँच  माला करना है | इस के लिए लाल चन्दन या कुंकुम की माला या काले हकीक  की माला इस्तेमाल कर सकते है |
५ तेल का दीपक साधना काल में जलता रहेगा जब तक आप मन्त्र जाप करते है | दीपक में तिल का तेल इस्तेमाल करे तो जयादा उचित है |
६. सोलह किस्म का सिंगार ले आये उसे वेजोट पे लाल वस्त्र विछा के उस पर रख दे और सात किस्म की मिठाई भी रख दे इस के  इलावा छोटी इलाची और एक शीशी  इतर पास रखे और एक मीठा पान का बीड़ा रख दे |
७. साधना के बाद छोटी इलाची और इतर को छोड़ कर शेष  समग्री किसी निर्जन स्थान  पे उसी लाल वस्त्र में बांध कर  छोड़ दे अथवा नदी में प्रवाहित करदे |
८. वशीकरन के लिए एक इलाची ७ वार यह मन्त्र पढ़  किसी को खिला दे |
९. जब आप किसी अधिकारी से मिलने जा रहे हो जो आपका कार्य नहीं कर रहा तो थोरा इतर लगा के चले जाये वोह आपकी बात जरुर सुनेगा |
१०. इसे २१ दिन करना है और मन शुद रखे |
११. सारी समग्री लाल वस्त्र पे रख के उस में तेल का दिया किसी पात्र में रख कर  लगा दे और मन्त्र जाप शुरू करने से पहले गणेश पूजन गुरु पूजन और श्री भैरव  पूजन अनिवर्य है |
१२. उस दिये  पे एक मिटी के  पात्र पर थोड़ा घी लगा के दिये  से थोड़ा उचा रख सकते है | काजल उतरने के लिए !उस काजल से तीव्र  संमोहन होता है | उसे आँखों में लगा के जिसे भी देखेगे समोहित हो जायेगा !

साधना करते वक़्त ख्याल रखे कई वार मोहिनी भयानक रूप में सामने आ जाती है | जिस के काले वस्त्र होते है और रंग काला होता है | होठो पे ढेर सारी सुर्खी लगी होती है | आंखे बिजली की तरह चमक रही होती है | ऐसी हालत में डरे न नहीं तो मेहनत बेकार हो जाती है | और ना ही उसकी आंखो में देखने का प्रयत्न करे नहीं तो आप समोहित हो जाएगे और साधना रुक जाएगी बहुत धार्य से काम ले जब तक वो वर मांगने को न कहे तब तक बोले न सिर्फ अपने मंत्र जप पे ध्यान दे | जब आपका बचन हो जाए तो उसे कहे के जब भी मैं आपको याद कर इस मंत्र का जप कर जिसे समोहित करना चाहु कर सकु आप ऐसा वर दे इस से समोहन की शक्ति आपको दे देगी उसे सिंगार मिठाई पान आदि प्रदान करे वोह खुश हो कर आपको सकल स्मोहन का बचन दे देगी अगर ऐसा न भी हो तो भी मंत्र सिद्ध हो जाता है और कार्य करने लगता है | ऐसा सिर्फ इस लिए लिखा है के मेरा ऐसा अनुभव है | जो मैं समझता हु किसी के साथ भी ऐसा हो सकता है | पर अक्सर मंत्र सिद्ध हो जाता है और कार्य करने लगता है | साधना के बाद आप इसके प्रयोग की पुष्टि कर सकते है | भूल कर भी गलत कार्यओ में इसका इस्तेमाल न करे इस का कई वार विपरीत परिणाम भी भुगतना पै सकता है |



               साबर मंत्र 
मोहिनी मोहिनी  मैं करा मोहिनी  मेरा नाम |
राजा  मोहा प्रजा  मोहा मोहा शहर ग्राम ||
त्रिंजन बैठी नार मोहा चोंके बैठी को |
स्तर बहतर जिस गली  मैं जावा सौ मित्र सौ वैरी को ||
वाजे मन्त्र फुरे वाचा |
देखा  महा मोहिनी  तेरे इल्म का तमाशा ||

गणेश मोहिनी साधना

मोहिनी साधनए तो बहुत है इन सभी में गणेश मोहिनी साधना श्रेष्ट कही गई है | वैसे तो मोहिनी साधनाये  अपना पूर्ण प्रभाव रखती है | इन में से श्री गोरखनाथ मोहिनी ,शाह हजरत अली की सुलेमानी मोहिनी ,मोहमंद सहब की शाम कोर मोहिनी और पंज पीर मोहिनी प्रयोग वीर हनुमान मोहिनी रतड़ी मोहिनी बीबों मोहनी  साबर साधनायों  में बेमिसाल मानी गई है ! जहां मैं गणेश मोहिनी दे रहा हु यह मेरी अनुभूत साधना है ! ऐसी साधनाए मिलना भी सोभाग्य माना जाता है |साबर तंत्र , साधना के हर पहलू को उजागर करती है | चाहे वोह  वीर साधना हो जा यक्षणी साधना साबर तंत्र आश्चर्ज से भरा हुया है !साधना तो दे रहा हु पर किसी भी हालत में इसका गलत प्रयोग न करे अथवा परिणाम भी आपको भुगतने पड़ेगे मैं जहां साधको की जिज्ञाशा के लिए यह अनुभूत साधना दे रहा हु कोई भी तर्क कुतर्क माईने नहीं रखता | बहुत ही बेमिसाल साधना है | यह किसी भी असभव  कार्य को सभव करने का बल रखती है | इसे करने के लिए अनुष्ठान करना पड़ता है यह एक दिन की साधना है और इसे घर में नहीं करना है | घर में करने से फलदायी नहीं होगी यह बात आप याद रखे |


विधि –इस के लिए निम्न वस्तुए 21-21 रुपेए की लेकर मिला ले !
1 –स्लीरा 
2-लाल चंदन पाउडर 
3-सफ़ेद चंदन पाउडर
4 बादाम                   
5 शुयायारे 
5 गिरि गोला 
6 किसमिस
7 सरियाला  
8 अगर 
9 तगर
और जटा मासी और एक 1.50 किलो हवन स्मगरी आधा किलो तिल काले,
यह समान किसी भी पंसारी की दुकान से आसानी से मिल जाता  है ! अगर कोई चीज न भी मिले तो भी कोई बात नहीं आप हवन में फूल मखाने और कमल  गट्टे  भी मिला सकते है | एक कटोरी शकर और आधा किलो शुद्ध घी मिला कर समग्री तयार कर ले और इस हवन के लिए आम की लकड़ चाहिए अब किसी भी नजदीक जंगल में जा कर रात्री को गणपती का पूजन और उस के बाद 1100 आहुति देनी है | इस मंत्र से ऐसा करने से साधना सिद्ध हो जाती है हवन करते हुए इस बात का ख्याल रखे के जंगल को आग न लगे इस लिए जा तो निर्जन सथान जा नदी का किनारा भी बेहतर है | रात 9 व्जे के पहचान्त हवन शुरू करे इस में तीन घंटे से ज्यादा  का समय लग जाता है | भोग के लिए पाँच लड्डू रख ले और पुजा के पहचान्त साधना पूर्ण होने के बाद उहने वोही छोड़ दे और घर आ जाए जा जहां आपने स्टे की है वहाँ आ जाए | सिंदूर  की एक डीबी साथ ले जाए और उसे खोल कर पास रख ले जब  साधना पूर्ण  हो जाए तो उसे साथ ले आए इस का तिलक सभी को समोहित कर  देगा |
जहां एक बात जरूर कहनी चाहुगा कई लोग अपनी अनुकूलता के लिए साधना के नियम बना लेते है जब परिणाम सही नहीं मिलते तो साधना को गलत कह देते है | इस लिए साधना में दिये हुये नियमो की पालना अनिवार्य है !   
साधना करने से पूर्व गुरु पूजन कर आज्ञा ले ले और फिर जंगल में जा कर  रात 9 से 1 वजे तक साधना संम्पन कर ले इस में किसी प्रकार  की हानी नहीं होती इस लिए सभी ड़र दिल से निकाल दे !

साबर मंत्र –
ॐ गणपती वीर वसे मसान ,जो मैं मांगु सो तुम आन !
पाँच लड्डू वा सिर संदूर त्रीभुवन  मांगे चंपे के फूल!
अष्ट कुली नाग मोहा जो नाड़ी 72 कोठा मोहु !
इंदर की  बैठी सभा मोहु आवती जावती ईस्त्री मोहु !
जाता जाता पुरुष मोहु ! डावा अंग वसे नर सिंह जीवने क्षेत्र पाला ये!
 आवे मारकरनता सो जावी हमारे पाउ पड्न्ता!
गुरु की शक्ति हमारी भगती चलो मंत्र आदेश गुरुका !  

महा मोहिनी साधना

हर व्यक्ति चाहता के वोह सभ से सुंदर दिखे और हर लड़की चाहती है के उसे अपूर्व सोंदर्य प्राप्ति हो इस के लिए इंसान चाहे औरत दोनों प्रयत्न शील रहते है !तरह तरह के साधन अपनाते है !सोंदर्य सिर्फ बाहर का नहीं अंतर में भी सोंदर्य हो वाणी में सोंदर्य हो चेहरे पे तेज हो तो वोह हर इंसान को अपने मोह पाश में बांध लेता है ! योगमाया देवी सोंदर्य और आकर्षण की प्रति मूर्ति है !इस से बढ़ कर कोई सुंदर नहीं !

यह किसी भी साधक को सोंदर्य प्रदान कर सकती है इस के लिए यह एक अनुभूत साधना है !इस से व्यक्ति के हर पहलू से सोंदर्य आ जाता है जहां महलाए भी अपने में एक विशेष आकर्षण महसूस करती है !तेज और मादकता उनके चेहरे से छल्क उठती है और वह अपने सोंदर्य में किसी को भी बांधने की शक्ति अर्जित कर लेती है !इस के लिए यह साधना बहुत लाभकारी है !आप भी एक वार इसे संपन कर अपने को विशेष सोंदर्य से श्राभोर करे !

यह आसान साधना है और इसे भी मोहिनी एकादशी को शुरू कर 11 दिन में पूर्ण करना है !इस हिसाब से आप 11 माला हर रोज कर सकते है !कुल मंत्र 7000 जप कर सकते है जा 11 दिन 11 माला कर ले !इस के लिए जो समगरी चाहिए आपके पास चाँदी की जा नवरतनों की माला हो जा सफटिक की माला का प्रयोग कर ले जा नवरंगी माला भी ले सकते है जैसी माला इन में से मिले प्रयोग में ले ले ! दूसरा आपके पास भगवान विष्णु का और योगा माया का चित्र जा मूर्ति हो !नगेंदर निखिल !
विधि --- 
सभ से पहले आप किसी बेजोट पे पे लाल वास्तर विशा कर देवी की और भगवान विष्णु की प्रितमा का स्थापन करे अगर प्रितमा जा विग्रयाह न हो तो तो सुंदर चित्र का स्थापन कर ले !सभ से पहले गुरु पूजन और श्री गणेश पूजन करे सद्गुरु का चित्र भी साथ में स्थापन करे और पूजन के बाद आज्ञा लेकर साधना शुरू करे !

देवी की प्रितमा पे गुलाबी रंग का वस्त्र चढ़ाए और केसर कुंकुम ,धूप दीप पुष्प नवेध के लिए शुद्ध घी की बनी हुई मिठाई आदि का भोग लगाए फल चढ़ाये और एक मीठा पान भी अर्पित करे इस पुजा में केसर और पान विशेष स्थान रखता है इस लिए यह दोनों चीजे खास कर पुजा में समलित करे हर रोज पूजन करना है वस्त्र एक वार चढ़ा सकते है बाकी समान रोज नया ले और पहला समान किसी पात्र में उठा के रख दे !इसके साथ ही भगवान विष्णु की आराधना करे और चित्र का पूजन करे !

फिर उकत माला से 11 माला निमन मंत्र का जप करे !ऐसा आपको 11 दिन करना है !11 दिन के बाद सारी स्मगरी जो पूजन के वक्त आपने उठा ली थी उसे जल प्रवाह कर दे और चित्र को पुजा स्थान में स्थापन कर दे इस प्रकार यह साधना पूर्ण हो जाती है !इस में आसन पीला और दिशा पच्छिम को मुख रखे !
मंत्र -- ॐ वं वं वं क्रीं आकर्षिणी स्वाहा !!

कृष्ण समोहन बाण साधना

जहाँ बात समोहन की हो तो श्री कृष्ण जी का चित्रण अपने आप हो जाता है और सिर शरधा से अपने आप झुक  जाता है और जीवन में प्रेम की लहर दौड़ जाती है शरीर में रोमाच  पैदा होने लगता है !हवा से संगीत तरंगे प्रवाहित होने लगती है !सारा वातावर्ण एक महक से भर उठता है !बदलो की गडगडाहट से मेघ  संगीत लहरी वजने लगती है !यह सभी समोहन तो है जो प्रकिरती हमेशा करती है !और आप स्मोहत होते चले जाते है !दृश्य आप को अपनी और आकर्षित करते है !प्रकिरती का यही गुण अपनाकर साधक शरेष्ट बन जाता है और  प्रकिरती से एकाकार हो जाता है तो जीवन में सुगंध वियाप्त होती ही है !जब तक प्रकिरती तत्व आप में नहीं आता कैसे एक अप्सरा और य्क्ष्नी को बुला पयोगे संभव ही नहीं है !कैसे किनरी को अपने बस में कर पयोगे इस तत्व के बिना नहीं हो सकता क्यों के एक प्रकिरती ही है जो सभ को अपनी और आकर्षित करती है !जहाँ सन्यासी प्रकिरती को पूरी तरह अपना लेते है !तभी तो शरेष्ट बन पाते है और प्रकिरती उन्हें स्व पालने लगती है !अगर साधक बन कर इस तथ्य को अपनायो गे तो सहज ही समझ जायोगे की प्रकिरती क्या चाहती है आपसे आप त्राटक करते हो जा कोई साधना उस में प्रकिरती को ही निहारते हो उसी प्रकिरती में व्याप्त सुगंध आप की आँखों के रस्ते आप में भी व्याप्त हो जाती है !प्रकिरती को निहारना ही अभियाश है और अपना लेना समोहन और प्रेम का संगीत जा प्रकिरती संगीत सुनना किरिया है उसे समझ लेना समोहन है !अब सवाल यह है ऐसा क्या करे के प्रकिरती का संगीत समझ य़ा जाये और समोहन की किरिया अपने आप संपन हो जाये जैसे प्रकिरती में स्व ही होती है !उच्च कोटि के फकीरों और संतो में एक कहावत कही जाती है "कुदरत नार फकीरी की "अर्थात कुदरत जा प्रकिरती को अपना लेना ही जीवन की पूर्णता है !और जही श्री कृष्ण जी का दिव्य सन्देश है !क्यों के वोह वार वार कहते है अर्जुन तुम मुझे पहचानो मैं नदियों में गंगा नदी हू दरखतो में पीपल हू अदि अदि ऐसे बहुत उधारन दे कर अर्जुन को समझाया !क्यों के श्री कृष्ण पूरण समोहन का रूप थे और प्रकिरती को अपना चुके थे तभी जरे जरे में व्याप्त थे !इस लिए कृष्ण नाम से वडा कोई समोहन मंत्र नहीं है !जहाँ एक समोहन बाण साधना दे रहा हू जो गोपनीय तो है ही और अपने आप में पूरण समोहन लिए हुए है मेरी स्व की परखी हुयी है !

साधना विधि ---
१ इसे अष्टमी जा श्री कृष्ण जम्नाष्ट्मीके दिन और बंसंत पंचमी से शुरू किया जा सकता है यह २१ दिन की साधना है !
२ इस में जाप वज्यंती माला से करे !
३ मन्त्र जाप २१ माला करना है !
४ जप के वक़्त सुध घी की ज्योत लगा दे !
५ गुरु पूजन गणेश पूजन और श्री कृष्ण पूजन अनिवार्य है !
६ भोग के लिए दूध का बना परशाद मिश्री में छोटी इलाची मिला के पास रख ले !
७ हो सके तो षोडश परकार से पूजन करे नहीं तो मिलत उपचार जैसा आपको आता है कर ले !
७ वस्त्र पीले और आसन पीला !
८ दिशा उतर रहेगी !
९ साधना के अंत में पलाश की लकड़ी ड़ाल कर उस में घी से दस्मांश हवन करना है !ऐसा करने से साधना सिद्ध हो जाती है और आपकी आँखों में समोहन छा जाता है ! 
इस का प्रयोग भलाई के कार्यो में लगाये यह अमोघ शक्ति है !

मन्त्र----|| ॐ कलीम कृष्णाय समोहन बाण साध्य हुं फट ||

alt         alt

Note - नीचे मंत्र साधनायें लिखी गई है कोई भी मंत्र साधना पढ़ने के लिये उस मंत्र पर क्लिक करे ☟

vashikaran specialist aghori baba in calcutta west bengal

vashikaran specialist real aghori tantrik in calcutta west bengal

vashikaran specialist astrologer in calcutta west bengal

vashikaran specialist aghori tantrik baba in calcutta west bengal

Real aghori baba in calcutta west bengal

dus maha vidhya sadhak in calcutta west bengal

Black Magic specialist in calcutta west bengal

worlds no 1 aghori tantrik in calcutta west bengal

worlds no 1 aghori baba in calcutta west bengal

White Magic specialist in calcutta west bengal

love marriage specialist in calcutta west bengal

love problem solution in calcutta west bengal

love guru in calcutta west bengal

no 1 aghori tantric baba in calcutta west bengal

famous aghori tantrik in calcutta Kolkata real aghori tantrik in calcutta Kolkata real aghori baba in calcutta Kolkata Best aghori tantrik in calcutta Kolkata No 1 tantrik in calcutta Kolkata number one tantrik in calcutta Kolkata tantrik guru in calcutta Kolkata black magic specialist in calcutta Kolkata bengali aghori tantrik in calcutta Kolkata world famous tantrik in calcutta Kolkata shamshan sadhak in calcutta Kolkata dus mahavidhya tantrik in calcutta Kolkata dus mahavidhya sadhak in calcutta Kolkata dusmahavidhya tantrik in calcutta Kolkata dusmahavidhya sadhak in calcutta Kolkata love marriage specialist tantrik in calcutta Kolkata love marriage expert tantrik in calcutta Kolkata love marriage specialist baba in calcutta Kolkata love marriage expert baba in calcutta Kolkata love marriage specialist aghori tantrik in calcutta Kolkata love marriage expert aghori tantrik in calcutta Kolkata love marriage specialist aghori baba in calcutta Kolkata love marriage expert aghori baba in calcutta Kolkata vashikaran specialist in calcutta Kolkata vashikaran specialist tantrik in calcutta Kolkata vashikaran specialist baba in calcutta Kolkata vashikaran specialist aghori tantrik in calcutta Kolkata vashikaran specialist aghori baba in calcutta Kolkata love vashikaran specialist in calcutta Kolkata love vashikaran specialist tantrik in calcutta Kolkata love vashikaran specialist baba in calcutta Kolkata love vashikaran specialist aghori tantrik in calcutta Kolkata love vashikaran specialist aghori baba in calcutta Kolkata No 1 tantrik in calcutta Kolkata number one tantrik in calcutta Kolkata Girlfriend vashikaran specialist in calcutta Kolkata Girlfriend vashikaran specialist tantrik in calcutta Kolkata Girlfriend vashikaran specialist baba in calcutta Kolkata Girlfriend vashikaran specialist aghori tantrik in calcutta Kolkata Girlfriend vashikaran specialist aghori baba in calcutta Kolkata boyfriend vashikaran specialist in calcutta Kolkata boyfriend vashikaran specialist tantrik in calcutta Kolkata boyfriend vashikaran specialist baba in calcutta Kolkata boyfriend vashikaran specialist aghori tantrik in calcutta Kolkata boyfriend vashikaran specialist aghori baba in calcutta Kolkata wife vashikaran specialist in calcutta Kolkata wife vashikaran specialist tantrik in calcutta Kolkata wife vashikaran specialist baba in calcutta Kolkata wife vashikaran specialist aghori tantrik in calcutta Kolkata wife vashikaran specialist aghori baba in calcutta Kolkata husband vashikaran specialist in calcutta Kolkata husband vashikaran specialist tantrik in calcutta Kolkata husband vashikaran specialist baba in calcutta Kolkata husband vashikaran specialist aghori tantrik in calcutta Kolkata husband vashikaran specialist aghori baba in calcutta Kolkata stri vashikaran specialist in calcutta Kolkata stri vashikaran specialist tantrik in calcutta Kolkata stri vashikaran specialist baba in calcutta Kolkata stri vashikaran specialist aghori tantrik in calcutta Kolkata stri vashikaran specialist aghori baba in calcutta Kolkata vashikaran love spells in calcutta Kolkata vashikaran love spells specialist in calcutta Kolkata vashikaran love spells expert in calcutta Kolkata voodoo spells in calcutta Kolkata voodoo spells specialist in calcutta Kolkata voodoo spells expert in calcutta Kolkata love spell in calcutta Kolkata love spell specialist in calcutta Kolkata love spell expert in calcutta Kolkata money spells in calcutta Kolkata money spells specialist in calcutta Kolkata money spells expert in calcutta Kolkata Astrologer in calcutta Kolkata vedic astrologer in calcutta Kolkata best astrologer in calcutta Kolkata vedic astrology in calcutta Kolkata no 1 astrologer in calcutta Kolkata Number 1 astrologer in calcutta Kolkata